एनीमिया (खून की कमी) के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज

what is anemia symptoms, cause and treatment in hindi

What is Anemia Symptoms, Cause and Treatment in Hindi- क्या आपको पता है की भारत में सबसे ज्यादा गर्भवती महिलाएँ ही एनीमिया से पीड़ित होती है. अक्सर देखा जाता है की जो महिलाएँ गर्भवती होती है, उन्हे एनीमिया रोग होना एक सामान्य सी बात होती है. क्योकि उनमे आयरन की कमी होती है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि शिशु के लिए भी रक्त निर्माण की जरुरत पड़ती है. जिससे उन्हें एनीमिया होने की संभावना अधिक होती है. एनीमिया रोग बहुत खतरनाक बीमारी है. जो किसी भी व्यक्ति को हो सकती है। यदि आप अपना पूर्ण रुप से ख्याल और जरुरी पोषण नही ले पाते है तो आप एनीमिया जैसे रोग से नही बच सकते है. इसलिए मैं आपको बताऊंगा की एनीमिया से आप कैसे बच सकते है. तो चलिए जानते है की “what is anemia symptoms, cause and treatment in hindi” एनीमिया के लक्षण, कारण और उपचार के  बारे में।

What is Anemia in Hindi|| एनीमिया क्या होता है?

खून की कमी होने के कारण एनीमिया रोग हो जाता है. और खून की कमी तब होती है जब हमारे शरीर को जरुरी मात्रा में लौह तत्व नही मिल पाता है. जब लौह तत्व हमारे शरीर में नही होता है तो हमारा शरीर लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण नही कर पाता है. लाक रक्त कोशिकाओं में हीमोग्लोबिन पाया जाता है. जो हमारे शरीर में ऑक्सीजन के द्वारा ऊतको तक  पहुचाया जाता है. एनीमिया के बारे में तो जान लिया हमने अब हम एनीमिया के लक्षण के बारे में जानेंगे. तो चलिए जानते है की एनीमिया के क्या-क्या लक्षण होते है।

Anemia Symptoms in Hindi||एनीमिया के लक्षण

  • चक्कर आना एनीमिया का लक्षण पाया गया है. यदि आपको खड़े होने पर चक्कर आते है तो समझ लीजिए यह एनीमिया के लक्षण भी हो सकते है।
  • हर वक्त थकान महसूस होना एनीमिया के लक्षण को दर्शाता है।
  • सांस फूलना भी एनीमिया के लक्षण होते है।
  • त्वचा का पीला होना एनीमिया का एक महत्वपूर्ण लक्षण है।
  • आंखों का सफेद या पीला होना एनीमिया हो सकता है।
  • नाखूनों का सफेद होना एनीमिया के लक्षण होते है।
  • कमजोरी होने की वजह से बेहोश हो जाना एनीमिया के लक्षण है।
  • धड़कन का तेज गती से चलना ।
  • बालो का झड़ना और सिर दर्द होना ।

तो आपको एनीमिया के लक्षण के बारे में तो पता चल गया. अगर आपको ऐसी किसी भी तरह की समस्या है तो आपको तुरंत डॉक्टर के पास जाकर चेकअप कराना चाहिए। जिससे आपको इसके कारण के बारे में पता चल सके. और आप समय रहते इसका इलाज करवा सके।

Anemia Cause in Hindi||एनीमिया के कारण

what is anemia symptoms, cause and treatment in hindi
google source image

एनीमिया होने के कई सारे कारण होते तो, जिनकी वजह से आपको एनीमिया हो जाते है। तो चलिए जानते है की एनीमिया के कारण के बारे में।

  • एनीमिया के मुख्य कारण, आप उन चिजो का सेवन नही करते है जिनमें प्रचुर मात्रा में आयरन पाये जाते है।
  • खून की कमी होना।
  • चोट लगने या किसी दुर्घटना में अधिक मात्रा में खून का बह जाना ।
  • उल्टी होने पर साथ में खून भी आना ।
  • खून के साथ दस्त होना ।
  • बार-बार गर्भधारण करना ।
  • मलेरिया रोग होने पर लाल रक्त कोशिकाओं का नष्ट हो जाना ।

Home Remedies for Anemia in Hindi||एनीमिया के लिए घरेलु उपचार

1. पालक

पालक मे प्रचुर मात्रा में आयरन पाये जाते है. जो आपके शरीर में जरुरी आयरन की कमी को पूरा करता है. इसे इस्तेमाल करने के लिए आपको इसका सूप बनाना होगा. पालक का सूप बनाने के लिए पालक को काट ले और इसमें एक चम्मच शहद और एक चम्मक नींबू का रस और थोड़ा सा नमक को मिलाकर इसका सूप तैयार कर लें.

रोजाना नाश्ते के समय इस सूप को पिये. अगर आपको सूप पीना अच्छा नही लगता है तो रोजाना पालक की सब्जी को अपने डाइट में जरुर शामिल करें। अगर आप एक महिने तक इस नुस्खे का सेवन करते है तो आपको एनीमिया से बहुत जल्दी ही छुटकारा मिल जायेगा ।

2. चुकंदर

आपको तो चुकंदर के बारे में पता ही होगा की खून की मात्रा को बढ़ाने के लिए लोग चुकंदर का सेवन करते है. चुकंदर में विटामिंस, कैल्शियम, मिनरल्स और लौह तत्व अधिक मात्रा में पाये जाते है. इसलिए चुकंदर एनीमिया रोगी के लिए रामबाण साबित हो सकता है.

रोजाना सुबह चुकंदर का सेवन करने से शरीर में खून की मात्रा को बहुत जल्दी बढ़ाया जा सकता है. चुकंदर को खाने के साथ आप इसका जूस भी पी सकते है. चुकंदर का सेवन एक से दो महिने तक करने से आपके शरीर में खून की मात्रा बढ़ जायेगी।

3. बादाम

बादाम में कई सारे गुण प्रचुर मात्रा में पाये जाते है. जो हमारे शरीर के लिए काफी जरुरी होता है. एनीमिया रोगी के लिए बादाम एक अच्छा ड्राई फ्रूट्स है. इसे भिंगोकर रोजाना सुबह खाने से खून की कमी से बचा जा सकता है.

इसके साथ बादाम हमारे बालो और त्वचा के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है. अगर आप एनीमिया के रोगी नही है पर फिर आप बादाम का सेवन जरुर करे. जिससे आप स्वस्थ और जवां दिखेंगे।

4. अनार

अनार में विटामिंस सी और लौह तत्व पाये जाते है. जो हमारे शरीर में मौजूद लाल रक्त कोशिकाओं को बढ़ाने में मदद करता है. खून को बढ़ाने के लिए अनार रस का प्रतिदिन सुबह एक गिलास खाली पेट पीये. जिससे खून की मात्रा बढ़ने के साथ साथ प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाया जा सके।

5. केला

केले में आयरन उचित मात्रा में मौजूद होता है. जो शरीर में खून की कमी को पूरा करने में सहायक होता है. रोजाना केले के साथ एक चम्मच शहद का सेवन करना चाहिए. इसे प्रतिदिन कम से कम दो बार जरुर करे.

इसके अलावा आप आंवले के रस में केले को मिलाकर रोजाना दो बार पी सकते है. यदि आप इस नुस्खे को एक महिने तक लगातर करते है तो आपको खून की कमी होने की समस्या हमेशा के लिए दूर हो सकती है।

इसे भी पढे- केले खाने के फायदे और नुकसान

6. मेथी के दाने या पत्ते

मेथी लाल रक्त कोशिकाओ को बढ़ाने के लिए बहुत अच्छा घरेलु नुस्खा है. इसमे बहुत ही ज्यादा मात्रा में आयरन पाया जाता है. मेथी के दाने में पके हुये चावल और नमक को मिलाकर सेवन करने से एनीमिया में फायदा मिलता है.

करीब दो से तीन सप्ताह तक इसका सेवन ऐसे ही करते रहे. अगर आपको मेथी की सब्जी खाने में अच्छी लगती हो तो मेथी की सब्जी का सेवन जरुर करना चाहिए. सब्जी के अलावा आप इसे सलाद और सूप के रुप में भी इस्तेमाल कर सकते है।       

7. मुनक्का

मुनक्का सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है. इसमे काफी अधिक मात्रा में आयरन और विटामिंस पाये जाते है. जो हमारे शरीर मे हिमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ाने मे मदद करती है. 10 मुनक्का के दाने को भिंगोकर प्रतिदिन सुबह नाश्ते से पहले इसका सेवन करना चाहिए. दो हफ्ते तक इसका सेवन करने से आपको इसका एक अच्छा परिणाम देखने को मिल सकता है।

8. सेब

सेब में आयरन के साथ साथ कई सारे पोषक तत्व पाये जाते है. जो खून की कमी को दूर करने में सहायक होते है. ऐसे में आपको रोज सुबह खाली पेट एक सेब का सेवन जरुर करना चाहिए. और एक बात का ख्याल रखे की उसे छिलके सहीत ही खाये.

कई लोग ये गलती अक्सर करते रहते है और सेब को छिल के खाते है जो सही नही होता है. सेब के छिलके में भी कई सारे पोषक तत्व पाये जाते है जो हमारे शरीर के लिए फायदेमंद होते है।

9. खजूर

कहा जाता है की खजूर आयरन का खजाना होता है. इसलिए खजूर के नियमित सेवन करने से आपको कभी भी खून की कमी नही होगी. और आप शारीरिक रुप से भी स्वस्थ रहेंगे. एनीमिया रोग में खजूर को रात में एक गिलास दूध में भिंगोकर रख दे. और सुबह खाली पेट खजूर को खाकर बचे हुये दूध को पी जाये. ऐसा करने से आप कुछ ही हफ्तो में एनीमिया से छुटकारा पा सकते है।

10. शीरा

शीरा में कई सारे पोषक तत्व पाये जाते है जो एनीमिया रोगी के लिए बहुत फायदेमंद होता है. यदि शीरा का सेवन गर्भवती महिलाएँ करती है तो उन्हे इसका काफी ज्यादा फायदा मिलता है. एनीमिया से पीड़ित गर्भवती महिला को इस नुस्खे को जरुर इस्तेमाल करना चाहिए.

एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच शीरा मिलाकर इसका सेवन करना चाहिए. प्रतिदिन एक बार जरुर इसका सेवन करे. जिससे की आपको कुछ ही हफ्तो में इसके लाभ देखने को मिल सके।

11. तुलसी

तुलसी एंटीऑक्सिडेंट गुणो से भरा होता है. जो शरीर को रोगो से लड़ने में मदद करता है. इसके साथ ही यह खून की कमी को भी दूर करता है. यदि आप तुलसी का सेवन करना चाहते है तो तुलसी के रस में शहद को मिलाए और इसे इस्तेमाल करे. नियमित सेवन करने से आपको जल्द ही इसके फायदे मिलने लगेंगे।

12. धनिया

धनिये में बहुत सारे पोषक तत्व पाये जाते है. जैसे आयरन, विटामिंस, कैल्शियम, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और एंटीऑक्सिडेंट भी मौजूद होते है. इसलिए यह एनीमिया रोगी के लिए काफी फायदेमंद होता है. इसलिए रोजाना धनिया का सेवन जरुर करना चाहिए।

13. सहजन के पत्ते

एनीमिया रोगी के लिए आयरन और फोलेट बहुत जरुरी होता है. और इसके लिए सहजन के पत्ते रस बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है. सहजन के पत्ते के रस को शहद के साथ मिलाकर प्रतिदिन नाश्ते के साथ करे. कुछ हफ्तो तक इस्तेमाल करने से आपको जल्दी ही अच्छे परीणाम मिलेंगे।

एनीमिया से बचने के कुछ जरुरी टिप्स

  • एनीमिया रोगी को लोहे के बर्तन में भोजन करना चाहिए।
  • रोजाना सुबह ताजे फल का सेवन करना चाहिए।
  • अंजीर को भिंगोकर नाश्ते में इसका सेवन करना चाहिए।
  • गर्भवती महिलाएं को अंजीर का सेवन नही करना चाहिए।
  • नियमित व्यायाम करना चाहिए।
  • हरी सब्जियों का सेवन अधिक मात्रा में करना चाहिए।
  • प्रतिदिन कम से कम 10 से 15 मिनट तक धूप लेना चाहिए।
  • नियमित ठंडे पानी से नहाना चाहिए।
  • डॉक्टर से हमेशा समय-समय पर चेकअप करवाते रहना चाहिए।

Anemia रोग से बचने के लिए आपको अपने नियमित दिनचर्या में बदलाव करने चाहिए. बताये गये टिप्स को जरुर से नियमित रुप से फॉलो करे. अगर आपको बताये गये किसी भी लक्षण के बारे पता चलता है तो तुरंत डोक्टर के पास जाना चाहिए. डॉक्टर के सलाह के बिना किसी भी घरेलु नुस्खे को इस्तेमाल नही करना चाहिए. डॉक्टर से परामर्श लेने के बाद ही किसी भी प्रकार के घरेलु उपचार को अपनाये। 

हमने आपको इस पोस्ट में “what is anemia symptoms” एनीमिया के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है. अगर फिर भी कुछ छुट गया है तो आप हमें कमेंट कर के जरुर बताये. अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी है तो इसे वाट्सअप, फेसबूक पर जरुर शेयर करे।

ऐसे ही रोजाना सेहत ही जुडी जानकारी पाने के लिए जुडे रहे RealmeHealth.com के साथ ।

Share on

One thought on “एनीमिया (खून की कमी) के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close