Health

पीलिया रोग होने के कारण और लक्षण

क्या आपको पता है की पीलिया रोग किसे कहते है और इसके क्या लक्षण है। (Jaundice) पीलिया किसी भी उम्र के लोगो होने वाला रोग है। पीलिया देखने में बहुत ही साधारण सी बीमारी है पर अगर इसका सही समय पर इलाज नही किया गया तो यह एक गंभीर रुप ले सकती है। ऐसे में पीलिया के लक्षण के बारे में आपको पहले से पता होना बहुत आवश्यक है। यदि आपने समय रहते इसके लक्षण के बारे में जान लिया तो आप पीलिया रोग से बच सकते है। तो आज हम इसी विषय पर बात करेंगे की पीलिया रोग कैसे होता है?  पीलिया के लक्षण और बचाव के बारे में जानेंगे। तो चलिए जानते है पीलिया (Jaundice Symptoms in Hindi) के बारे में।

इसे भी पढे- कैंसर के प्रकार और लक्षण 

पीलिया रोग होने के कारण है? What is Reason of Jaundice in Hindi

जब हमारे शरीर के रक्त में पीले रंग का बिलीरुबिन नामक पदार्थ की मात्रा आवश्यकता से अधिक होने लगती है तो हमारे शरीर का रंग पीला होने लगता है। इसके साथ ही नाखून और आंखे भी पीली हो जाती है। अगर वही बिलीरुबिन हमारे शरीर के लीवर द्वारा बाहर चली जाये तो इस बीमारी से बचा जा सकता है।

पर ऐसा नही होता है बिलीरुबिन लीवर द्वारा बाहर नही निकल पाती है। इसलिए ऐसे व्यक्ति को पीलिया रोग हो जाता है। पीलिया क्या है और यह कैसे होता है हमने इसके बारे में तो जान लिया। चलिए अब पीलिया के लक्षण (‌Jaundice Symptoms in Hindi) के बारे में जानते है।

इसे भी पढे- अपेंडिक्स के लक्षण और बचाव 

पीलिया रोग के लक्षण क्या है? Jaundice Symptoms in Hindi

यदि हम पीलिया के सबसे मुख्य लक्षण के बारे में बात करे तो वह है त्वचा, नाखून और आंखो का पीला होना होता है। यह लक्षण ज्यादातर सभी पीलिया रोग के मरीजो में अवश्य पाया जाता है। जो शुरुआती दिनो में सबसे पहले यही लक्षण देखने को मिलते है।

अगर आपको भी आपके शरीर में ऐसे लक्षण देखने को मिलते है तो डॉक्टर को इसके बारे में जरुर बताये। इसके साथ ही पीलिया रोग के मरीजो में बुखार, कमजोरी, भूख न लगना, सिर में दर्द, थकान, पेट दर्द और वजन कम होने जैसे लक्षण देखने को मिलते है।

 

इसे भी पढे- एनीमिया के कारण, लक्षण और उपचार 

पीलिया से बचने के उपाय 

पीलिया से बचने के लिए आपको आपने रोजाना के खान-पान और तौर तरीकों को बदलना होगा। इसके बारे में हमने आपको नीचे बताया है की आपको क्या बदलाव करने है। यदि आप ऐसा करते है तो पीलिया रोग से आप हमेशा के लिए बच सकते है।

  1. प्रतिदिन संतुलित भोजन को अपने डाइट मे शामिल करे। कम से कम 4 से 5 बार थोडे थोडे भोजन करने की कोशिश करे।
  2. रोजाना सुबह सूरज उगने से पहले खुले स्थान में योगा या व्यायाम करे।
  3. प्रतिदिन नाश्ते में ताजे फल या फल के रस को शामिल करे।
  4. गन्ने का रस पीलिया रोगी के लिए फायदेमंद होता है इसलिए आप गन्ने के रस को भी अपने डाइट में शामिल कर सकते है।
  5. ज्यादा से ज्यादा पानी पीने की कोशिश करें।
  6. शराब और धूम्रपान का सेवन ना करे।

यदि आप स्वस्थ्य रहना चाहते है और पीलिया से बचना चाहते है तो बताये गये उपाय को जरुर इस्तेमाल करे। यदि आपको भी पीलिया के ये सभी लक्षण देखने को मिलते है तो घरेलू इलाज करने के बजाय डॉक्टर से इलाज करायें।

हमने आपको पीलिया रोग होने के कारण और पीलिया रोग के लक्षण के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। यदि आपको यह लेख पीलिया के लक्षण (Jaundice Symptoms in Hindi) पसंद आयी हो तो इसे और लोगो को शेयर जरुर करे जिससे उन्हें भी पीलिया के लक्षण के बारे में पता चल सके। और समय रहते इसका इलाज करा सके।

ऐसे ही रोजाना सेहत से जुड़ी जानकारी पाने के लिए जुड़े रहे realmehealth.com के साथ।

 

Share on

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *